If you're seeing this message, it means we're having trouble loading external resources on our website.

यदि आप एक वेब फ़िल्टर का उपयोग कर रहे हैं तो कृपया सुनिश्चित कीजिए कि डोमेन *.kastatic.org और *.kasandbox.org अनब्लॉक हैं।

मुख्य कॉन्टेंट

खान एकेडमी पर मास्टरी लर्निंग

खान एकेडमी पर मास्टरी लर्निंग

खान एकेडमी पर मास्टरी लर्निंग

मास्टरी लर्निंग क्या है?
‘मास्टरी लर्निंग’ का विचार सबसे पहले 1968 में एक अमेरिकी शिक्षा-मनोवैज्ञानिक बेंजामिन ब्लूम ने प्रस्तुत किया था। यह शिक्षा से संबंधित एक दृष्टिकोण है। इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना होता है कि सभी विद्यार्थियों ने अगले टॉपिक (topic) पर जाने से पहले महत्वपूर्ण अवधारणाओं (key concepts) में महारत (Mastery) हासिल कर ली है। वे विद्यार्थी जो अवधारणा में महारत हासिल नहीं कर पाते हैं उन्हें अतिरिक्त सहयोग दिया जाता है और उनकी समझ को दुबारा परखा जाता है।
‘मास्टरी लर्निंग’ की सफलता के लिए आपको निम्नलिखित चीजें करने की आवश्यकता होती है:
  • विद्यार्थियों की कमजोरी एवं मजबूती के क्षेत्रों की पहचान करना
  • सावधानीपूर्वक विभिन्न टॉपिक्स का क्रम निर्धारित करना ताकि आधारभूत ज्ञान का निर्माण हो सके
  • विद्यार्थियों को अपनी गति से अध्ययन करने की अनुमति देना
  • विद्यार्थियों की प्रगति की निगरानी करना और उन्हें आवश्यक फीडबैक देना
एक शिक्षक के रूप, मास्टरी लर्निंग, आपके और आपके विद्यार्थियों के लिए अत्यधिक उपयोगी है:
  • यह एक विद्यार्थी को आगे बढ़ने से पहले प्रत्येक अवधारणा को गहराई से समझने में मदद करता है।
  • मास्टरी लर्निंग का उपयोग करके एक शिक्षक अपने विद्यार्थियों को पिछली अवधारणा पर प्रश्न दे सकता है जिसमें वह उनकी प्रमुख कमजोरियों की पहचान करके उनका निदान कर सकता है। इस तरीके से शिक्षक अपने विद्यार्थियों की नींव मजबूत कर सकते हैं।
  • इसके साथ ही, निरंतर फीडबैक और सहायता प्रदान करने से विद्यार्थी महारत (mastery) हासिल कर लेता है!

खान एकेडमी पर मास्टरी लर्निंग

खान एकेडमी का प्लैटफॉर्म मास्टरी लर्निंग के सिद्धांतों का उपयोग करके डिज़ाइन किया गया है। "कोर्स मास्टरी सुविधा" (course mastery feature) के माध्यम से खान एकेडमी शिक्षकों को सहायता प्रदान करता है ताकि वे विद्यार्थियों को मास्टरी हासिल करने में मदद कर सकें।
यह प्लैटफॉर्म आपको विभिन्न अवसर प्रदान करता है, जैसे:
  • आप अपने विद्यार्थियों के लिए सीखने का दीर्घकालिक लक्ष्य (long-term learning goal) निर्धारित कर सकते हैं और इसकी निगरानी कर सकते हैं।
  • आप अपने विद्यार्थियों को एक ही अध्ययन सामग्री को अपनी गति से सीखने में सहायता कर सकते हैं।
  • आपके पास प्रत्येक विद्यार्थी की विस्तृत मास्टरी रिपोर्ट उपलब्ध होती है जिसका उपयोग करके आप विद्यार्थियों को निरंतर फीडबैक दे सकते हैं।
  • आप अपने विद्यार्थियों की प्रगति की निगरानी कर सकते हैं और इससे प्राप्त जानकारी का उपयोग उन्हें अधिक कठिन प्रश्न देकर उनकी क्षमता और कौशल का परीक्षण करने, उनकी सराहना करने और उन्हें प्रेरित करने के लिए कर सकते हैं।

खान एकेडमी में मास्टरी के विभिन्न स्तर

  • जब तक विद्यार्थी अभ्यास शुरू नहीं करते हैं तब तक वे “शुरू नहीं किया” (Not started) स्तर पर होते हैं जिसका अर्थ है कि उनके पास शून्य (0) अंक हैं।
  • जैसे ही वे अभ्यास करना शुरू करते हैं वे "प्रयास किया गया” (Attempted) स्तर पर पहुँच जाते हैं। यदि किसी विद्यार्थी के सही उत्तर 70% से कम हैं तो वह “प्रयास किया गया” स्तर पर बना रहता है और उसे कोई अंक प्राप्त नहीं होता है।
  • यदि उनके 70% या इससे अधिक उत्तर सही होते हैं तो उन्हें 50 अंक प्राप्त होते हैं और वे “परिचित” (Familiar) स्तर तक पहुँच जाते हैं।
  • अगला स्तर “प्रवीण" (Proficient) है। इस स्तर तक पहुँचने के लिए एक विद्यार्थी को 80 अंक प्राप्त करना और 100% प्रश्नों का सही उत्तर देना आवश्यक है।
  • जब विद्यार्थी “प्रवीण" स्तर पर पहुँच जाते हैं और यूनिट टेस्ट/कोर्स चैलेंज/मास्टरी चैलेंज में उस कौशल से संबंधित प्रश्नों के सही उत्तर देने में सक्षम हो जाते हैं तब वे “मास्टरी” (mastery) स्तर हासिल कर लेते हैं। मास्टरी स्तर में पहुंचने पर विद्यार्थी को 100 अंक प्राप्त होते हैं।

क्या आप चर्चा में शामिल होना चाहते हैं?

अभी तक कोई पोस्ट नहीं किया गया है।
क्या आप अंग्रेजी भाषा समझते हैं? खान एकेडमी की अंग्रेजी वेबसाइट पर चल रही और अधिक चर्चाओं को देखने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।