If you're seeing this message, it means we're having trouble loading external resources on our website.

यदि आप एक वेब फ़िल्टर का उपयोग कर रहे हैं तो कृपया सुनिश्चित कीजिए कि डोमेन *.kastatic.org और *.kasandbox.org अनब्लॉक हैं।

मुख्य कॉन्टेंट

खान अकैडमी - परिपालन मॉडल्स

खान अकैडमी - परिपालन मॉडल्स

खान अकैडमी - परिपालन मॉडल्स

इस लेख में हमने आपके विद्यार्थियों के साथ खान अकैडमी का उपयोग करने के लिए कुछ मॉडलों का उल्लेख किया है। कृपया ध्यान दें कि ये कुछ ऐसे मॉडल हैं जिनका उपयोग दुनिया भर में किया जा रहा है। हालाँकि, एक शिक्षक/शिक्षिका के रूप में हमेशा आप ही यह तय करेंगे/करेंगी कि आपकी कक्षा के लिए सबसे अच्छा क्या है।

मॉडल 1- पढ़ाएँ, असाइन करें और अभ्यास कराएँ

इस मॉडल में, शिक्षक/शिक्षिका नियमित रूप से अभ्यास कराने के लिए खान अकैडमी का उपयोग करते हैं ताकि अवधारणाओं के प्रति विद्यार्थियों की समझ बेहतर हो सके और वे स्कूल में अभ्यास कर सकें। इस मॉडल का उपयोग करने के लिए कक्षा के दौरान आवश्यक उपकरणों तक विद्यार्थियों की पहुँच होना चाहिए।
नीचे यह बताया गया है कि आप इस मॉडल को अपनी कक्षा में कैसे लागू कर सकते/सकती हैं।

पाठ से पहले (Before the lesson)

आप 5 से 10 मिनट का समय प्रासंगिक असाइनमेंट को निर्धारित करने में लगा सकते/सकती हैं। इसके बाद अपनी पूरी कक्षा को प्रासंगिक लेख पढ़ने, वीडियो देखने और अभ्यास करने के लिए दें। हम अनुशंसा करते हैं कि आप विद्यार्थियों को कॉन्टेंट इस तरह दें कि विद्यार्थी खान अकैडमी पर कम-से-कम 30 मिनट का अभ्यास जरूर करें क्योंकि हमने यह पाया है कि इससे विद्यार्थियों के सीखने पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है।

पाठ के दौरान (During the lesson)

नई अवधारणा को सिखाना: आप विद्यार्थियों को कोई नई अवधारणा या तो स्वयं पढ़ा सकते/सकती हैं या उन्हें नई अवधारणाएँ सिखाने के लिए खान अकैडमी के वीडियो पूरी कक्षा के साथ साझा करके उन पर चर्चा कर सकते/सकती हैं, इससे आपको विद्यार्थियों को नई अवधारणाएँ सिखाने में मदद मिल सकती है।
निर्देशित और स्वतंत्र अभ्यास: इसके बाद विद्यार्थी उन अभ्यास प्रश्नों को हल करने के लिए आगे बढ़ते हैं जो उन्हें पढ़ाए जा चुके टॉपिक के आधार पर करने के लिए दिए गए हैं। अधिकांश विद्यार्थी 1 अनिवार्य अभ्यास पूरा करते हैं। कुछ विद्यार्थी दूसरा अभ्यास पूरा करते हैं। यदि कोई विद्यार्थी पहले अभ्यास पर अटक जाता/जाती है तो वह अवधारणा की समझ को स्पष्ट करने के लिए संकेतों का उपयोग कर सकता/सकती है या वीडियो देख सकता/सकती है।
विद्यार्थियों के कार्य करने के बाद, आपको यह दिखाई दे सकता है कि किसी विशिष्ट प्रश्न का सही उत्तर 20 में से केवल 7 विद्यार्थियों ने ही दिया है। कक्षा में विद्यार्थी उस प्रश्न पर चर्चा करते हुए कई मिनट बिता सकते हैं जहां वे समूह बनाकर प्रश्न के सही समाधान पर चर्चा कर सकते हैं तथा इस बात पर भी विचार-मंथन कर सकते हैं कि क्यों यह सर्वाधिक चुनौतीपूर्ण प्रश्न हो सकता है।

पाठ के बाद (After the lesson)

आप एक बार और रिपोर्ट देखकर यह पता लगाने का प्रयास करते/करती हैं कि कोई अन्य चुनौती तो नहीं सामने आ रही है। यदि आपके विद्यार्थियों ने 70% या उससे अधिक अंक प्राप्त किए हैं तो आप अगली कक्षा में अभ्यास कराने के लिए एक नई अवधारणा पर जाने का निर्णय ले सकते/सकती हैं।
यदि आपके विद्यार्थियों ने 70% से कम अंक प्राप्त किए हैं तो आप अगली कक्षा में वर्तमान अवधारणा का अभ्यास जारी रखने के लिए अधिक समय देने का निर्णय ले सकते/सकती हैं।
लेकिन हम उन विद्यार्थियों के लिए क्या कर सकते हैं जो अभी भी टॉपिक या अवधारणा को ठीक से नहीं समझ पाए हैं और जिन्हें अतिरिक्त सहायता की आवश्यकता है? आइए इसे अपने दूसरे मॉडल में देखें।

मॉडल 2- सुधार करने के लिए खान अकैडमी का उपयोग करें

शिक्षक/शिक्षिका के रूप में, हम सभी जानते हैं कि हमारे विद्यार्थी सीखने के अलग-अलग स्तरों पर होते हैं। हममें से कई लोगों ने यह पाया होगा कि हमारी कक्षा में कम-से-कम कुछ ऐसे विद्यार्थी हैं जिन्हें पिछली कक्षाओं में पहले पढ़ाए गए टॉपिक्स को और अधिक समझने की आवश्यकता है।
इस मॉडल में, आप खान अकैडमी का उपयोग करके अपनी सुधारात्मक योजना के अनुसार विद्यार्थियों को अनेकों टॉपिक असाइन कर सकते/सकती हैं।
  1. आप उन टॉपिक्स की पहचान कर सकते/सकती हैं जिन पर आपके विद्यार्थियों को सबसे अधिक अभ्यास करने की आवश्यकता है और खान अकैडमी पर उसके अनुरूप कॉन्टेंट खोज सकते/सकती हैं।
  2. इसके बाद विद्यार्थियों को जिस टॉपिक या अवधारणा पर समझ विकसित करने की आवश्यकता है, उसके आधार पर आप उन्हें प्रत्येक 1-2 सप्ताह में एक बार अनेक कॉन्टेंट और अभ्यास दे सकते/सकती हैं। उदाहरण के लिए, इसमें पाँच वीडियो, दो लेख और पाँच अभ्यास शामिल हो सकते हैं। विद्यार्थियों के पास असाइनमेंट पूरा करने के लिए कम-से-कम एक कक्षा की अवधि होगी और वे यह असाइनमेंट या तो कक्षा में, या स्कूल की कंप्यूटर लैब में, या घर पर पूरा कर सकते हैं। विद्यार्थियों से निर्धारित अंतिम तारीख तक असाइनमेंट पूरा करने की उम्मीद की जाती है।
  3. उस समयावधि के दौरान जब विद्यार्थी असाइनमेंट पर काम कर रहे हैं, आप यह जानने के लिए निगरानी कर सकते/सकती हैं कि क्या उन्हें अतिरिक्त कक्षा देने / टॉपिक को फिर से पढ़ाने की आवश्यकता है या फिर उन टॉपिक्स पर शंकाओं के समाधान के लिए अतिरिक्त समय दिया जाना चाहिए जिनमें विद्यार्थी कठिनाई महसूस कर रहे हैं।
चूँकि सुधारात्मक कॉन्टेंट आमतौर पर हमारे ग्रेड-स्तरीय कॉन्टेंट के अतिरिक्त होता है, इसलिए शिक्षक/शिक्षिका विद्यार्थियों के लिए हर सप्ताह कोई एक दिन निर्धारित कर सकते/सकती हैं जब विद्यार्थी अपनी समझ में मौजूद कमियों को दूर करने के लिए उन्हें सौंपे गए टॉपिक्स पर काम करेंगे।

मॉडल 3- नए और पुराने कौशलों को एकसाथ मिलाकर काम सौंपें (परीक्षा के समय उपयोग किया जाता है)

अपने पूरे शैक्षणिक वर्ष के दौरान हम अनेक परीक्षाओं, रचनात्मक मूल्यांकनों (FAs) और योगात्मक मूल्यांकनों (SAs) का सामना करते हैं जहां हमें अपने वर्तमान में जारी पाठ्यक्रम को पढ़ाना होता है लेकिन साथ ही उन पिछले टॉपिक्स पर विद्यार्थियों का मूल्यांकन भी करना होता है जो हमने पढ़ाए हैं।
यह मॉडल इन गतिविधियों के दौरान शिक्षकों/शिक्षिकाओं के लिए सबसे अधिक मददगार हो सकता है, जहां उन्हें शिक्षण के पहले से चल रहे और हाल ही में पढ़ाए गए दोनों टॉपिक्स पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता होती है।

पाठ से पहले (Before lesson)

रचनात्मक मूल्यांकनों (FAs) और योगात्मक मूल्यांकनों (SAs) से पहले आपको 30-45 मिनट संसाधनों का अवलोकन करने और दोहराने के लिए सामग्री असाइन करने में बिताने की आवश्यकता होगी। FAs और SAs के लिए सभी जरूरी टॉपिक्स को दोहराया जाना चाहिए / उनमें महारत हासिल की जानी चाहिए। इस मॉडल को कक्षा में लागू करने के लिए आपको कम-से-कम 1 दिन आरक्षित भी रखना होगा।

पाठ के दौरान (During lesson)

  • उपस्थिति (attendance) लेने या कक्षा की शुरुआत करने की किसी अन्य प्रक्रिया के बाद, आप कक्षा को कंप्यूटर लैब में ले जा सकते/सकती हैं या विद्यार्थियों को दोहराने के लिए खान अकैडमी पर असाइन किए गए टॉपिक्स का अभ्यास करने के लिए कक्षा में उपकरणों को खोलने के लिए कह सकते/सकती हैं।
  • विद्यार्थी अपने असाइनमेंट को पूरा करने के लिए स्वतंत्र रूप से काम करते हैं।
  • आप उन विद्यार्थियों के छोटे से समूह को निर्देश देने में समय व्यतीत कर सकते/सकती हैं जिन्हें अधिक सहायता की आवश्यकता है। आप इस समूह की सहायता करने के लिए उन विद्यार्थियों से भी कह सकते/सकती हैं जो पहले ही कॉन्टेंट में महारत हासिल कर चुके हैं।(इससे आपको गतिविधि टैब की निगरानी करने का समय भी मिलेगा।)
  • कक्षा के अंतिम पाँच मिनट के दौरान, शिक्षक/शिक्षिका असाइनमेंट पूरा होने की त्वरित जाँच करते हैं और विद्यार्थियों से उस दिन के अपने असाइनमेंट पर प्रतिक्रिया देने के लिए कहते हैं। (उदाहरण के लिए, आपको कौन-सा टॉपिक सबसे अधिक कठिन लगा और जब आप अटक गए थे तब आपने क्या किया?)
  • आप अंतिम तिथि को FAs/SAs के अनुरूप रख सकते हैं।
कृपया ध्यान दें कि विद्यार्थी स्कूल में और घर पर दोनों जगह अभ्यास जारी रख सकते हैं।

मॉडल 4- खान अकेडमी को होमवर्क असाइनमेंट के रूप में उपयोग करें

इस मॉडल में, शिक्षक होमवर्क देने के लिए एक नियमित स्रोत के रूप में खान अकैडमी का उपयोग करते हैं। होमवर्क असाइनमेंट की जाँच करना पारंपरिक पेपर होमवर्क असाइनमेंट की तुलना में तेज और अधिक सुविधाजनक है। विद्यार्थी खान अकैडमी ऐप के नवीनतम संस्करण को डाउनलोड करके कंप्यूटर या मोबाइल उपकरण पर खान अकैडमी के होमवर्क असाइनमेंट को पूरा कर सकते हैं।
इस मॉडल के 2 रूपांतर (variations) हैं-

रूपांतर (Variation) 1:

  1. आप एक टॉपिक को कक्षा में पढ़ा सकते/सकती हैं और पाठ्यपुस्तकों में अभ्यास प्रश्नों को हल करने के लिए दे सकते/सकती हैं, जैसा कि आप सामान्य रूप से करते/करती हैं।
  2. इसके बाद विद्यार्थियों को होमवर्क असाइनमेंट के रूप में कॉन्टेंट सौंपें। विद्यार्थी अगली कक्षा में आने से पहले घर पर असाइनमेंट पूरा कर सकते हैं और अभ्यास में महारत हासिल कर सकते हैं।
  3. आप टॉपिक को फिर से पढ़ा सकते/सकती हैं या उन प्रश्नों/कौशलों से संबंधित शंकाओं को दूर कर सकते/सकती हैं जिनमें विद्यार्थियों को अधिक सहायता की आवश्यकता है।

रूपांतर (Variation) 2:

  1. आप विद्यार्थियों को कक्षा में आने से पहले अध्ययन करने के लिए खान अकैडमी के वीडियो और लेख असाइन कर सकते/सकती हैं। विद्यार्थियों को कक्षा में आने से पहले इन कार्यों को घर पर पूरा करना होगा।
  2. जब विद्यार्थी टॉपिक को घर से पढ़कर कक्षा में आते हैं तो वे कक्षा में उस टॉपिक पर चर्चा करने के लिए तैयार होते हैं जिससे वे अधिक संलग्नता के साथ सीखते हैं। आप इस मॉडल का उपयोग विद्यार्थियों में आलोचनात्मक चिंतन कौशल (critical thinking skills) विकसित करने के लिए कर सकते/सकती हैं और टॉपिक्स के अनुप्रयोगों /अभ्यास के लिए कक्षा में अधिक समय निकाल सकते/सकती हैं।
  3. इसके बाद विद्यार्थी कक्षा में एक साथ अभ्यास कार्य करते हैं।
रूपांतर 2 के एक विस्तृत संस्करण पर ‘शिक्षकों के लिए खान - एडवांस्ड कोर्स’ में फ्लिप कक्षा (Flipped classroom) के तहत चर्चा की जाएगी।

हम अनुशंसा करते हैं कि

  1. आप यह सुनिश्चित करें कि आपके विद्यार्थियों को अभ्यास के लिए प्रति सप्ताह कम-से-कम 30-45 मिनट का समय मिले।
  2. आप नियमित रूप से अपने विद्यार्थियों की प्रगति और गतिविधियों की जांच करें ताकि आप उस मॉडल की पहचान कर सकें जो आपकी कक्षा में सबसे अच्छा काम करेगा और उसे लागू करें।
  3. आप हमेशा इस पाठ पर वापस आ सकते/सकती हैं और अपनी कक्षा में लागू करने के लिए किसी अन्य मॉडल को आजमा सकते/सकती हैं।

क्या आप चर्चा में शामिल होना चाहते हैं?

क्या आप अंग्रेजी भाषा समझते हैं? खान अकैडमी की अंग्रेजी वेबसाइट पर चल रही और अधिक चर्चाओं को देखने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।