प्रायोगिक ज्यामिति

रूलर, परकार, डिवाइडर, सेट स्क्वायर और चांदा जैसे यंत्रों से भिन्न आकृतियों को बनाने को ज्यामिति कहते हैं। यह आकृतियों का अध्ययन है।

दो रेखाएं परस्पर लंब कही जाती हैं, जब वे इस प्रकार प्रतिच्छेद करती हैं कि उनके बीच के कोण समकोण हों।

एक आकृति, जो एक सार्व बिंदु (अक्ष) से भिन्न दिशाओं में जाने वाली दो रेखाओं या किरणों से बनी हो कोण कहलाती है । इस प्रकरण में हम परकार और ऋजुकोर द्विभाजक तकनीक के प्रयोग से मूल कोणों को बनाना सीखेंगे।